‘इंटिमेसी’ में सेक्स टेप की शिकार महिला पीड़ित नहीं योद्धा बनती है

पेरिस हिलटन, किम कार्डेशियन, पामेला एंडरसन – ये कुछ ऐसे नाम हैं जो अपनी प्रतिभा के दम पर तो नहीं बल्कि अपने सेक्स टेप्स की वजह से ज़्यादा जाने जाते हैं. 1997 में पामेला एंडरसन का पहला सेक्स टेप लीक हुआ था और तब से अब तक, यानि 25 साल बाद भी उसका टेप इंटरनेट से डाउनलोड किया जाता है. मोबाइल फ़ोन में कैमरा आने के बाद से एमएमएस या सेक्स टेप की बाढ़ सी आ गयी थी. हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में भी करीना कपूर – शाहिद कपूर के मोबाइल से उनके किसिंग वीडियोस लीक हो गए थे. रिया सेन और अश्मित पटेल का वीडियो तो नीच मानसिकता का एक नमूना ही था. मोना सिंह जैसी सभ्य मानी जाने वाली अभिनेत्री हो या शर्लीन चोपड़ा और पूनम पांडे जैसी असभ्य और अश्लील रोल करने वाली अभिनेत्रियां, सबके सेक्स टेप या एमएमएस मोबाइल दर मोबाइल भटकते ही रहे हैं. सेक्स टेप बनाने की या अपने अंतरंग दृश्यों को फिल्माने के पीछे क्या मानसिकता है या उन्हें देखने वाले की मानसिक विकृति को कैसे समझा जाए ये एक विस्तृत अध्ययन का विषय है लेकिन ये सेक्स टेप कैसे किसी की हंसती खेलती, निजी और सार्वजनिक ज़िन्दगी को बर्बाद कर देते हैं, ये समझना है तो नेटफ्लिक्स पर रिलीज़ “इंटिमेसी” देखना चाहिए. राजनीति में एक तेज़ी से आगे बढ़ती महिला को गिराने के लिए, उसका करियर ख़त्म करने के लिए या उसकी बिखरती हुई शादी को पूरी तरह ख़त्म कर देने के लिए रची गयी एक साज़िश का जवाब किस तरीके से दिया जा सकता, ये इस वेब सीरीज की खासियत है. सीरीज की रफ़्तार थोड़ी धीमी है और एक अश्लील विषय पर होने के बावजूद, न्यूनतम अश्लीलता मौजूद है.

मालेन (इत्ज़ियार इतुनो), स्पेन के एक शहर बिल्बाओ की उप- महापौर है और जल्द ही महापौर बनायीं जा सकती है. उसकी अपने पति से बनना बंद हो चुकी है और दोनों लगभग अलग अलग अपनी ज़िन्दगी जी रहे हैं. इसका प्रभाव उनकी टीनएजर बेटी पर हो रहा है जो कि अपने बॉयफ्रेंड के चक्कर में अपनी ज़िन्दगी को मज़ाक समझती है. एकदिन मालेन का एक सेक्स टेप लीक हो जाता है और उसकी ज़िन्दगी में भूचाल आ जाता है. उसका पति उस से बुरी तरह नाराज़ हो जाता है. उसकी बेटी उसे दोषी समझने लगती है. और सबसे बड़ा झटका उसकी पार्टी उसे देती है जब वो उसे महापौर का चुनाव लड़ने के लिए मना कर देती है. इसी दौरान, एक और लड़की अपने लीक्ड सेक्स टेप की वजह से आत्म हत्या कर लेती हैं. अपना इस्तीफ़ा देने जाती मालेन को उस मृत लड़की की बहन मिलती है जो मालेन से कहती है कि उसकी बहन के कातिलों को पकड़ने में मदद करे और उसकी बहन को इंसाफ दिलाये. मालेन एक गहरी सोच में पड़ जाती है. सभी पहलुओं पर गौर करने के बाद मालेन अपनी बिखरती ज़िन्दगी और ख़त्म होती राजनीति को बचाने के लिए एक निर्णय लेती है. किसी की प्राइवेसी का उल्लंघन कर के उसकी निजी ज़िन्दगी की जानकारियों को जनता में लीक कर के उसकी ज़िन्दगी से खिलवाड़ करने की कहानी है ये वेब सीरीज.

इत्ज़ियार इतुनो को भारतीय दर्शक बहुत अच्छे से पहचानते हैं. मनी हाइस्ट नाम की नाम की नेटफ्लिक्स की सबसे सफल वेब सीरीज में इतुनो ने पहले सीजन से ही अपनी छाप छोड़ दी थी. इंस्पेक्टर राकेल मुरिलो जो कि प्रोफेसर को पकड़ने के लिए अपना पूरा दिमाग और अपनी पूरी शक्ति झोंक देती है लेकिन प्रोफेसर उसे हर कदम पर मात देते हुए आखिर में अपने साथ मिला लेता है. मनी हाइस्ट के आगे के सभी सीजन में इत्ज़ियार इतुनो को लिसबन के नाम से जाना जाता है. इंटिमेसी सीरीज इतुनो की है. उन्होंने ही इसे बेहतर से बेहतरीन बनाया है. एक महत्वकांक्षी और आज़ाद शख्स होने के साथ साथ अपनी उपलब्धियों से बेहद प्रसन्न इतुनो का किरदार एक पीड़ित का नहीं बल्कि एक योद्धा का नज़र आता है. उनकी बेटी लीरे (यून नोगुएरास) इस सीरीज की दूसरी महत्वपूर्ण किरदार हैं. जब जब माता पिता में बनती नहीं है उसका सबसे ज़्यादा असर बच्चों पर पड़ता है और अक्सर वो विद्रोही हो जाते हैं. ये बच्चे एक ऐसी ज़िन्दगी जीते हैं जहाँ उन्हें उनके किया हर गुनाह को सही ठहराते आता है. अपनी गलतियों का उन्हें कोई पछतावा नहीं होता. यून का अभिनय प्रशंसनीय है. इंस्पेक्टर अलीशिया वास्क्वेज़ (आना वागनर) और बेगोना उरीबे (पैट्रिशिया) के किरदार कहानी को दिशा और गति प्रदान करते हैं.

इंटिमेसी में कुछ खामियां भी हैं. एक है इसकी रफ़्तार. कहानी में हर घटना को प्राथमिकता देने की वजह से ये 5 एपिसोड की वेब सीरीज खींचते खींचते 8 एपिसोड की हो गयी है. दूसरा, मालेन अपने पति अल्फ्रेडो से नाखुश है और इसलिए वो कभी कभी किसी और के साथ सम्बन्ध बना लेती है. इस बात से मालेन के किरदार की गंभीरता को बड़ा नुकसान पहुँचाया है. सीरीज का पहला सीजन जहाँ ख़त्म हुआ है वहां मालेन एक नए रूप में आने का प्रण लेती है, उस वक़्त उसकी मानसिक स्थिति सशक्त होती है लेकिन एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के समय असमंजस की स्थिति किरदार के साथ जम नहीं रही थी. मालेन के पति अल्फ्रेडो का किरदार विचित्र ही कहा जा सकता है. पहले दो एपिसोड में निर्देशक ने फ़्लैश बैक और फ़्लैश फॉरवर्ड का इस्तेमाल किया है धड़ल्ले से जिस वजह से मालेन से सहानुभूति उपजे उस से पहले बेगोना की कहानी आ जाती है. अगर पहले दो एपिसोड देखने का धैर्य न हो तो आगे की सीरीज कोई देखेगा ही नहीं. वेरोनिका फर्नांडेज, लॉरा सरमिएंतो, होज़े मार्टिन, और डेव वॉलेस ने मिल कर इस सीरीज को लिखा है और इसी वजह से पटकथा लिखने में दंगल हुआ होगा. खैर निर्देशक भी चार चार हैं – होरगे तोरेग्रोसा, बेन गटरीज, कोल्डो अल्मन्डोज़, मार्ता फॉण्ट पास्कुअल। अनुभवी दर्शकों को पता चल जाएगा कि एपिसोड अलग अलग निर्देशकों ने बनाये हैं क्योंकि थोड़ी थोड़ी ही सही सबकी निर्देशकीय भाषा अलग होती ही है.

इंटिमेसी एक बात पर बहुत मजबूत है. वो है मालेन का सेक्स टेप रिलीज़ होने के बावजूद अपनी इच्छा शक्ति को न खोना. वो लड़ने का निर्णय लेती है, वो इंस्पेक्टर को भी जांच करने से रोकती है क्योंकि उसे विक्टिम नहीं बनना। वो सेक्स टेप लीक केस में ये दिखाना चाहती है कि उसके साथ गलत तो हुआ है लेकिन ये भी एक हादसा ही है, इसे भूल कर आगे बढ़ना बेहतर होगा. समाज में सेक्स टेप केस में हमेशा लड़की को पीड़िता दिखाया जाता है और बेचारा बनाया जाता है. मालेन इसके ठीक विपरीत काम करती है. इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए. वैसे वेब सीरीज में अश्लीलता बहुत ही कम है. इस वेब सीरीज को देखने के लिए समय निकला जा सकता है.

डिटेल्ड रेटिंग

कहानी :
स्क्रिनप्ल :
डायरेक्शन :
संगीत :

Tags: Movie review

Leave a Reply

Your email address will not be published.